Search Bar

टंकण भस्म | Tankan bhasm

टंकण भस्म ( Tankan bhasm)

टंकण भस्म - टंकण भस्म एक आयुर्वेदिक दवा है।इसे सुहागा या बोरेक्स के नाम से भी जाना जाता है,जो कि बोरेक्स पाउडर से तैयार किया जाता है।
आयुर्वेद में टंकन भस्म का उपयोग खांसी, सांस लेने में समस्या,घबराहट, ब्रोंकाइटिस, पेट में दर्द, कष्टार्तव ,रूसी, सांस की बदबू, व मूत्र संबंधी आदि रोगों में लाभदायक सिद्ध होता है।
टंकण भस्म | Tankan Bhasm

टंकण भस्म | Tankan Bhasm

वैसे टंकन भस्म को कई सारी कंपनियां बनाती हैं
जैसे - विंध्य हर्बल, वैधनाथ

टंकन भस्म के लाभ और औषधीय उपयोग

टंकन भस्म को मुख्य रूप से स्वास संबंधित बीमारियों में दी जाती है। जैसे-
  • अत्यधिक बलगम आता हो जो सफेद गाढ़ा या पीले रंग का होता है।
  • घबराहट के साथ साथ खांसी को ठीक करता है।
  • अधिक बलगम के कारण सीने में जलन होता है,उसमें लाभदायक होता है।
नोट- यह गले में जलन और लगातार सुखी खांसी वाले मरीज को नहीं दी जानी चाहिए।

  • टंकण भस्म गाढ़ा बलगम को पिघलाता है,ओर फेफड़ों से वलगम को बाहर निकालने में मदद करता है।
  • टंकण भस्म को सितोपलादि चूर्ण के साथ सेवन करने से ब्रोंकाइटिस में लाभ होता है। हालांकि ब्रोंकाइटिस में इसका प्रयोग तब किया जाता है  जब वलगम गाढ़ा होता है और इसे बाहर निकालना कठिन होता है।
  •  टंकन भस्म का उपयोग कष्टार्तव का इलाज किया जा सकता है ,लेकिन आमतौर पर इसका इलाज कष्टार्तव के लिए नहीं किया जाता है ।लेकिन मासिक धर्म के रक्त में भारी थक्के मौजूद होने पर फायदेमंद हो सकता है। टंकण भस्म के साथ अशोक क्वाथ या काढ़ा, और साथ में चंद्रप्रभावटी का सेवन करने चाहिए। और जो माताएं प्रेग्नेंसी की स्थिति में है उन्हें कतई इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • टंकन भस्म को नारियल तेल में मिलाकर बालों की जड़ों तक लगाने से रूसी को ठीक करने में मदद करता है। 
इस्तेमाल करने की विधि
आधा चम्मच टंकन भस्म लें और उसमें नारियल तेल डालें कि वह पेस्ट बन जाये और फिर इसे स्कैल्प पर 5 से 6 मिनिट उंगलियों से मसाज करें और आधे घंटे तक छोड़ दें उसके बाद शैम्पू से बालों को धूल लें।और आप चाहे तो उस पेस्ट में नीम तेल या पत्तियों के पाउडर को भी मिला सकते हैं जो बालों के लिए अधिक फायदेमंद होता है।

टंकण भस्म सेवन विधि-

टंकण भस्म को 125 से 250 mg तक या एक टैबलेट के बराबर शहद के साथ लेना चाहिए।
निर्देश: चिकित्सक के परामर्शानुसार सेवन करें 



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां