Important Jankari

सेमल का पेड़ व औषधीय गुण

सेमल का पेड़ व औषधीय गुण


सेमल का पेड़ व औषधीय गुण- सेमल का पेड़ 50 से 60 फिट बहुत ऊंचा पेड़ होती है और इसके पेड़ व समस्त डाली में छोटे छोटे कांटे होते है,

[caption id="attachment_6328" align="alignnone" width="300"]सेमल का पेड़ व औषधीय गुण सेमल का पेड़ व औषधीय गुण[/caption]

जिस पर चढ़ना आसान नहीं होता है।इसके पत्ते नुकीली दार व लंबे होते हैं और फूल लाल रंग का होती है तथा इसके फल से रुई या कॉटन निकलता है।फाग यानी होली के time में इसके पेड़ की डाली से सारी पत्तियां झड़ जाते हैं और डाली में सिर्फ फूल ही बचते हैं और इसके फूल उस समय इतने मनमोहक होते हैं कि सारा दिन बस देखते ही रहे इतने मन मोहक होती है।और इसके फूलों को सड़ाकर कलर बनाया जाता है जिससे होली खेली जाती है।

सेमल के ओषधीय गुण


सेमल आयुर्वेदिक ओषधीय गुणों से भरपूर है यह कई तरह के बीमारियों को जड़ से खत्म करने में अहम भूमिका निभा ता है तो चलिए जान लेते हैं इसके कुछ ओषधीय गुण

पुरूष दुर्बल्यता: पुरुषों में होने वाले रोग शीघ्रपतन, धातुक्षय, स्वप्नदोष, वीर्य का पुष्ठ न होना और अन्य शाररिक कमजोरियों का काल होता है।इन कमजोरीयो को दूर करने के लिए सेमल के फूलों को छाया में सुखा कर बारीक पीसकर चूर्ण बना लें और किसी बर्तन में सुरक्षित रख लें।तत्पपश्चात रोज सुबह और शाम को एक बड़ी चम्मच सेमल चुर्ण को मिश्री मिलाकर सेवन करें कुछ दिनों बाद इसके फायदे आपके सामने आ जायेगा।
चर्म रोग: चर्म रोग या त्वचा के रोग में सेमल की पत्तियों के रस का सेवन करना चाहिए क्योंकि इसके सेवन से अशुद्ध ब्लड शुध्द होता है और त्वचा में निखार आता है और फोड़े फुंसी झुर्रियां समाप्त हो जाते हैं।
मासिक धर्म: महिलाओं में होने वाली मासिक चक्र में यदि अतिरिक्त ब्लड निकलता है और अशाहनीय पीड़ा होती है तो सेमल की जड़ को चबाकर खाने चाहिए या जड़ की काढ़ा बनाकर पीने चाहिए इससे होने वाली पीड़ा में जबरदस्त लाभ मिलता है।
इसके अलावा यदि त्वचा किसी कारण वश जल गया है तो इसके छाल का पेस्ट बनाकर जले हुए स्थान पर लगाने से घाव ठीक हो जाता है|आयुष विंग में डॉ. क्रिस्चियन फेड्रिक सैमुअल हैनिमैन की जयंती मनाई गई|
चेहरे के दाग या झुर्रियों को मिटाने के लिए सेमल के कांटो को पीसकर पेस्ट बनाकर लगाने से चेहरे की झुर्रियां ठीक हो जाता है और महिलाओं के स्तन ढीले हो जाने पर भी इसके पेस्ट को लगाने से स्तन सुंदर हो जाते हैं।

सेमल की रूई के फायदे


[caption id="attachment_6329" align="alignnone" width="259"]सेमल का पेड़ व औषधीय गुण सेमल के फूल फल[/caption]

वैसे स्वास्थ्य की दृष्टि से रुई के फायदे नहीं है लेकिन हमारे जरूरत जैसे कि इसके रुई या कॉटन से गद्दा तकिया सोफा आदि बनाया जाता है।

सेमल के प्रयोग से हमें क्या हानि हो सकता है


सेमल जड़ की चूर्ण को एक निश्चित मात्रा में ही सेवन करें क्योंकि अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से पुरुषों में sexual क्षमता को कम कर सकता है आपकी पाचन क्रिया कमजोर हो सकता है अतः जब भी सेमल का प्रयोगकरें उसके पूर्व अपने चिकित्सक से जरूर परामर्श लें।

नीबू के औषधीय गुण

मधुमेह आहार

आयुर्वेदिक तेल

 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ